सोनाली खन्ना बनीं कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्टो एशिया की वाइस प्रेसिडेंट

 नई दिल्ली, 15 सितंबर 2021: कोका-कोला ने सोनाली खन्ना को कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्ट एशिया के लिए वाइस प्रेसिडेंट और जनरल काउंसल के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की। सोनाली अंजुली केलोत्रा की जगह ले रही हैं, जो एक वैश्विक कार्यभार संभालेंगी।


सोनाली इस क्षेत्र के लिए कोका-कोला की लीडरशिप टीम में एक नई सदस्या हैं और यह नियुक्ति कंपनी के उद्देश्य से प्रेरित नजरिए को और आगे बढ़ाती है।  कंपनी की नई संरचना को भारत और दक्षिण पश्चिम एशिया के बिजनेस को कोका-कोला कंपनी के लिए विकास इंजन के रूप में सक्षम बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह संरचना प्रतिभा विकास पर निर्माण जारी रखते हुए उभरते अवसरों का लाभ उठाती है।

 


सोनाली के पास प्रसिद्ध एफएमसीजी और सैटेलाइट कम्युनिकेशंस एवं टेक्नोलॉजी कंपनियों जैसे हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरेजेज, जीएसके कंज्यूमर और ह्यूजेस नेटवर्क सिस्टम्स के साथ विविध क्षेत्रों को कवर करने वाली विभिन्न भूमिकाओं में 24 वर्षों से अधिक का कार्य अनुभव है। 


सोनाली परिचालन इकाई (ओयू) से संबंधित सभी कानूनी मामलों पर निगरानी और नेतृत्व प्रदान करने के लिए जिम्मेदार होंगी जिसमें रणनीतिक कानूनी समर्थन के साथ-साथ व्यावसायिक सलाह और समाधान पर ध्यान दिया जाएगा। वे विभिन्नी हितधारकों के साथ सक्रियता से सहयोगी करेंगी जिनमें कानूनी पेशेवरों के कोका-कोला के वैश्विक नेटवर्क और पूरे उपक्रम में कंपनी के सहकर्मी शामिल हैं। 


इस नियुक्ति पर अपनी बात रखते हुए कंपनी के भारत और साउथ वेस्टन एशिया प्रेसिडेंट संकेत रे ने कहा कि यह हमारा निरंतर प्रयास है कि कंपनी के एक मजबूत और स्थाई भविष्य के विकास के लिए नेतृत्व टीम को मजबूत किया जाए और कंपनी की विकासशील व्यावसायिक जरूरतों को पूरा किया जाए। इस रोमांचक यात्रा पर सोनाली का स्वागत करते हुए मुझे खुशी हो रही है। सोनाली के पास रणनीतिक कानूनी समर्थन का भरपूर अनुभव है और उनका योगदान एक प्रणाली के रूप में इमर्जिंग स्ट्रॉन्गर की दिशा में हमारी इस यात्रा को आगे बढ़ाएगा।


इससे पहले सोनाली ने गुडईयर इंडिया लिमिटेड के साथ बतौर हेड-लीगल, कॉम्लार्  यंस एवं कंपनी सचिव काम किया। सोनाली ने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी), दिल्ली विश्वविद्यालय से वाणिज्य में स्नातक की डिग्री हासिल की है। उन्होंने आईसीएसआई से कंपनी सचिव और दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री ली है।

कोका-कोला इंडिया के विषय में

कोका-कोला इंडिया देश की अग्रणी पेय कंपनियों में से एक है, जो उपभोक्ताओं के लिये स्वास्थ्यवर्द्धक, सुरक्षित, उच्च गुणवत्ता के, तरोताजा करने वाले पेय विकल्पों की पेशकश करती है। वर्ष 1993 में अपने पुनःप्रवेश के बाद से कंपनी पेय उत्पादों से उपभोक्ताओं को तरोताजा कर रही है, जैसे कोका-कोला, कोका-कोला ज़ीरो, डाइट कोक, थम्स अप, थम्स अप चार्ज्ड, थम्स अप चार्ज्ड नो शुगर, फैन्टा, लिम्का, स्प्राइट, माज़ा, वियो “फ्लेवर्ड मिल्क”, मिनट मेड रेन्ज ऑफ ज्यूसेस, मिनट मेड स्मूथी और मिनट मेड विटिंगो, हॉट और कोल्ड चाय और कॉफी विकल्पों  की जॉर्जिया श्रृंखला, एक्वैरियस और एक्वैरियस ग्लूकोचार्ज, श्वीप्स , स्मार्ट वाटर, किनले और बोनएक्वा पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर और किनले क्लब सोडा। कंपनी अपने खुद के बॉटलिंग परिचालन और अन्य बॉटलिंग पार्टनर्स के साथ, करीब 2.6 मिलियन रिटेल दुकानों के मजबूत नेटवर्क के माध्यम से करोड़ों उपभोक्ताओं के जीवन का हिस्सा बन चुकी है, जिसकी प्रति सेकंड 500 सर्विंग्स की दर है। इसके ब्राण्ड देश में सबसे चहेते और सबसे अधिक बिकने वाले पेयों में शुमार हैं- थम्स अप और स्प्राइट, सबसे अधिक बिकने वाले दो स्पार्कलिंग पेय हैं।  


कोका-कोला इंडिया का सिस्टम 25,000 लोगों को प्रत्यक्ष और 150,000 से अधिक लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देता है। भारत में कोका-कोला सिस्टम वर्ल्डग विदाउट वेस्ट1, फ्रूट सर्कुलर इकोनॉमी, वाटर स्टीावर्डशिप, महिला सशक्तिकरण और कई अन्यग के तहत सामुदायिक पहलों के माध्यम से स्थायी समुदाय निर्मित करने में छोटा-सा योगदान दे रहा है। 


भारत में कंपनी के परिचालन और इसके उत्पादों के सम्बंध में अधिक जानकारी के लिये कृपया www.coca-colaindia.com  और www.hccb.in देखें।