अपोलो हॉस्पिटल्स ने को-मॉर्बिडिटीज वाले बच्चों के लिए मुफ्त कोविड टीकाकरण की घोषणा की: सभी सरकारी मंजूरी मिलने और टीके उपलब्ध होने के बाद दोनों टीके अपोलो अस्पताल के विजय नगर टीकाकरण केंद्र और देश भर के अपोलो अस्पतालों में उपलब्ध होंगे

 



   


इंदौर,-, एशिया के अग्रणी एकीकृत स्वास्थ्य सेवा प्रदाता, अपोलो हॉस्पिटल्स ने आज अपने अस्पताल नेटवर्क में विशिष्ट सहरुग्णता (को-मॉर्बिडिटीज) वाले बच्चों के लिए कोविड-19 के मुफ्त टीकाकरण की घोषणा की।

यह अनुमान है कि विशिष्ट सहरुग्णता (को-मॉर्बिडिटीज) वाले बच्चों के टीकाकरण के लिए जल्द ही अनुमति दी जाएगी और टीकाकरण के लिए अनुमानित आयु-समूह के अनुमोदन के तुरंत बाद, अपोलो अस्पताल द्वारा मुफ्त टीकाकरण पहल शुरू की जाएगी। इस सूची में हेमटोलॉजिकल, न्यूरोलॉजिकल, कार्डियक, लीवर, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल, रुमेटिक, कैंसर, श्वसन, जननांग और विकास संबंधी विकारों वाले बच्चों को शामिल करने की उम्मीद है। हालांकि, यह एक सांकेतिक सूची है और मुफ्त टीकाकरण के लिए उपयुक्त सहरुग्णता रोगों की अंतिम सूची सरकार द्वारा प्रकाशित सूची के अनुसार होगी।



अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप के चेयरमैन डॉ प्रताप सी रेड्डी ने कहा, "वयस्कों पर अब तक टीकाकरण का फोकस रहा है, क्योंकि कुल मिलाकर बच्चों को गंभीर कोविड संक्रमण से बचाया गया है। हालांकि, सह-रुग्णता (को-मॉर्बिडिटीज) वाले बच्चों के केस में ऐसा नहीं है। इन बच्चों में गंभीर संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। इसके अलावा, सहरुग्णता वाले बच्चों ने महत्वपूर्ण मनोसामाजिक प्रभाव देखा है क्योंकि लॉकडाउन की वजह से उन्हें उस तरह की देखभाल और विशेष उपचार नहीं मिल पाया जिसकी उन्हें आवश्यकता होती है। सरकार की ओर से सहरुग्णता वाले बच्चों के लिए वैक्सीन की मंजूरी एक स्वागत योग्य कदम होगा। इस टीकाकरण की महत्ता को समझते हुए, हम सहरुग्णता वाले बच्चों को कोविड के टीके पूरी तरह से मुफ्त देंगे और उन्हें कोविड के खिलाफ आवश्यक 'कवच' (शील्ड) देंगे!"



अपोलो अस्पताल, जो महामारी की शुरुआत से ही कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे रहा है और आज देश में सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का वैक्सीनेटर है, जिसके पास 5 मिलियन से अधिक वैक्सीन डोज़ हैं। बच्चों और किशोरों के लिए टीकाकरण कार्यक्रम राष्ट्र के भविष्य को कोविड-19 से बचाने में मदद करेगा।



अभी तक की जानकारी के अनुसार दो टीके सरकार द्वारा EUA की प्रतीक्षा कर रहे हैं:



१. कोवैक्सिन: 2-18 साल की उम्र के बच्चों के लिए। 28 दिनों के अंतराल पर दो खुराक। इंट्रा - वैस्कुलर। 


२. ZyCov-D: 12-18 साल की उम्र के लिए। 28 दिनों के अंतराल पर तीन खुराक। सुई मुक्त टीका इंट्रा-डर्मली।  



सभी सरकारी मंजूरी मिलने और टीके उपलब्ध होने के बाद दोनों टीके अपोलो अस्पताल के विजय नगर टीकाकरण केंद्र और देश भर के अपोलो अस्पतालों में उपलब्ध होंगे।  



अधिक जानकारी के लिए, कृपया संपर्क करें डॉ रोहिणी श्रीधर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष - चिकित्सा सेवाएं, अपोलो हॉस्पिटल्स -drrohini_s@apollohospitals.com