छोटे से गांव के विप्रदेव को हरिद्वार में मिला ज्योतिष रत्न एवं देवगुरू बृहस्पति ज्योतिष सम्मान

 आगर मालवा- प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती है। वह विषम परिस्थिति में भी संघर्ष करते हुए मंजिल तक पहुँच ही जाती है। छोटे से गांव से निकलकर इंदौर जैसे महानगर में ज्योतिष विद्या का परचम लहराने वाले राजगढ़ जिले के छोटे से गांव भैसाना निवासी पंडित दिनेश शास्त्री ने अपने विद्या कौशल के बलबूते  ज्योतिष रत्न एवं देवगुरू बृहस्पति ज्योतिष पाने में सफलता अर्जित की है।

 

हरिद्वार (उत्तराखंड) में 29 दिसम्बर को राष्ट्रीय ज्योतिष एवं रुद्राक्ष अनुसन्धान संस्थान के स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में देशभर से ज्योतिषाचार्यों को आमंत्रित किया था।जिसमें भैसाना वाले पंडित मनोहर लाल शास्त्री के पुत्र पंडित दिनेश शास्त्री को आरजेआरएएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज त्रिवेदी ने ज्योतिष रत्न की उपाधि से सम्मानित किया। इस अवसर पर महर्षि पाराशर विश्व विद्यापीठ के द्वारा देशभर से चुने हुए 4 श्रेष्ठ ज्योतिषाचार्यों को विशिष्ट सम्मान देवगुरू बृहस्पति ज्योतिष सम्मान से सम्मानित किया गया।उन चार श्रेष्ठ ज्योतिषाचार्यों में से एक पंडित दिनेश शास्त्री को भी विशिष्ट सम्मान देवगुरु बृहस्पति ज्योतिष सम्मान से सम्मानित
किया गया। शास्त्री जी ने बताया कि माँ गायत्री की कृपा और माता-पिता के आशीर्वाद से ही मैं इस सम्मान को प्राप्त करने में समर्थ हुआ हुवा।पंडित दिनेश शास्त्री ने इस सम्मान के लिए राष्ट्रीय ज्योतिष एवं रुद्राक्ष अनुसन्धान संस्थान तथा महर्षि पाराशर विश्व विद्यापीठ का हृदय से धन्यवाद किया एवं आभार व्यक्त किया। पंडित दिनेश शर्मा की उपलब्धि से इष्ट मित्रों वह समाज जनों में हर्ष की लहर व्याप्त है।