शाही ठाठ-बाट से नगर भ्रमण पर निकले बाबा बैजनाथ:दर्शन के लिए उमड़ा आस्था का जनसैलाब:शिवभक्तिमय हुआ पूरा नगर

 


आगर मालवा- जिले में प्रसिद्ध बाबा बैजनाथ महादेव की शाही सवारी श्रावण मास के आखिरी सोमवार को परम्परानुसार धूमधाम से निकाली गई। नगराधिपति बाबा बैजनाथ ने शाही ठाठ-बाट से नगर भ्रमण कर प्रजा के हाल जाने, दर्शन के लिए आस्था का जनसैलाब उमड़ा, जिले के दूरदराज गांवों एवं आसपास के जिलों से आए हजारों की संख्या में भक्तजनों ने बाबा बैजनाथ के दर्शन किए। जगह-जगह भक्तों ने बाबा बैजनाथ की शाही सवारी पर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया तथा रथ में सवार बाबा बैजनाथ की पूजा-अर्चना की गई। पूरा नगर शिवभक्तिमय नजर आया।

        

 दोपहर में मंदिर परिसर में बाबा बैजनाथ का सांसद  महेंद्र सिंह सोलंकी, सुसनेर विधायक विक्रम सिंह राणा, विधायक आगर  विपिन वानखेड़े, कलेक्टर अवधेश शर्मा, पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सगर, जिला अध्यक्ष  गोविंद सिंह बरखेड़ी व अन्य जनप्रतिनिधि द्वारा पूजन किया गया। मंदिर परिसर में पूजन उपरांत बाबा बैजनाथ रथ में सवार होकर प्रजा का हाल जानने नगर भ्रमण के लिए निकले, मंदिर परिसर से प्रारंभ हुई शाही सवारी शनै-शनै जिला जेल के सामने पहुंची, जहां पुलिस जवानों ने बाबा बैजनाथ को सलामी दी। मंदिर परिसर से लगभग 3 किलोमीटर का सफर तय कर शाही सवारी छावनी चौराहा पहुंची, जहां जिले के अन्य शिवालयो की सवारी, गांव से आई झंडा व भजन मंडली एवं अन्य झांकियां, बैंड-बाजे डीजे तथा नाचते-गाते शिवभक्तों का कारवां शाही सवारी के साथ जुड़ा तथा सवारी आगे बड़ने लगी। सवारी मार्ग में भक्तजनों ने अपने मकानों की छतों पर खड़े होकर तथा स्टॉल लगाकर पुष्प वर्षा की।

     


  बाबा बैजनाथ की सवारी का रथ सबसे आगे, इसके पीछे अन्य झांकियां एवं दर्जन भर से अधिक बैंड-बाजे रहे। दुर्गा वाहिनी की 30 बालिकाएं दंड प्रदर्शित करते तथा श्रीराम सेना, सवारी के आगे स्वच्छता एवं झाड़ू लगाते हुए ढ़ोल-तासे के साथ चली। शाही सवारी के साथ ही अन्य गांव से आई झांकियां, अखाड़ा दल, तरह-तरह के मुखेटे धारण किए युवा आकर्षण का केंद्र रहे। शाही सवारी को कारवां निर्धारित रूट से होते हुए देर रात्रि कृषि मंडी प्रांगण में पहुंचा, जहां बाबा बैजनाथ की पूजा की गई।


 अचलेश्वर महादेव की सवारी रही आकर्षण केंद्र


बाबा बैजनाथ की शाही सवारी के साथ ही नगर में प्रसिद्ध अचलेश्वर महादेव की सवारी इस बार अपने अनोखे अंदाज में पूरे धूमधाम से निकाली गई।शिव बारात, जिसमें नंदी पर भोलेनाथ और शेर पर विराजित मां दुर्गा, विशेष आकर्षण को केन्द्र रही।


बाबा  बैजनाथ का कलेक्टर ने सपत्नीक किया पूजन


      सावन के आखिरी सोमवार को कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा ने प्रातः काल में बाबा बैजनाथ मंदिर गर्भ ग्रह में सपत्निक बाबा बैजनाथ का अभिषेक एवं पूजन अर्चन किया। बाबा बैजनाथ मंदिर के रात्रि 3 बजे पट खोले गए। रात्रि 3ः30 से 4ः00 बजे तक पंचामृत पूजन एवं विशेष श्रृंगार किया गया तथा सुबह 5 बजे आरती की गई। प्रातः 6  मंदिर  गर्भ ग्रह में प्रवेश प्रतिबंधित किया गया इसके बाद श्रद्धालुओं ने बाबा बैजनाथ के बाहर से ही दर्शन किए, सुबह से ही मंदिर परिसर में बाबा बैजनाथ दर्शन के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचने लगे, जिन्होंने लंबी-लंबी कतारों में खड़े होकर बाबा बैजनाथ के दर्शन किए।


हजारों भक्तों ने की भोजन प्रसादी ग्रहण

शाही सवारी में आने वाले श्रृद्धालुओं के लिए पुरानी कृषि उपज मंडी प्रांगण में विशाल भण्डारा आयोजित किया गया। भंडारे में हजारां की संख्या में श्रृद्धालुओं ने भोजन प्रसादी ग्रहण की।यहाँ भक्तो को बैठाकर व परोसकर ससम्मान भोजन प्रसादी करवाकर अतिथि देवो भव की परंपरा का निर्वहन किया जा रहा है।

 

जिला प्रशासन एवं पुलिस की चाक-चौबंद रही व्यवस्था


       शाही सवारी के दिन नगर में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की सभी व्यवस्था चाक-चौबंद रही। पुलिसकर्मियों एवं अन्य शासकीय कर्मियों ने मंदिर प्रांगण, सवारीमार्ग सहित नगर में जगह-जगह तैनात रहकर यातायात व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाएं बनाए रखी। किसी भी तरह की अव्यवस्था शाही सवारी में शामिल होने वाले भक्तजनों को नहीं हुई। पुलिस विभाग की पूर्व की कार्य योजना के अनुसार पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सगर के मार्गदर्शन में सभी पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा अपने दायित्व का निर्वाहन करते हुए यातायात व्यवस्था बनाए रखी। डाइवर्ट यातायात व्यवस्था के अनुसार ही वाहनों का आवागमन जिले में हुआ।